Odisha Train Accident: मृतकों के परिवार को मिलेंगे 12 लाख मुआवजा, जाने क्या है प्रक्रिया

ओडिशा में हादसे का शिकार हुईं तीन रेलगाड़ियों से लोगों को निकालने और बचाने का अभियान जारी है, ट्रैक से बोगी को हटाने का काम जारी, रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि ये वक्त राजनीति करने का नहीं है, ये वक्त काम करने का है. बालासोर रेल हादसे में मृतकों की संख्या 288 हो गई है |

Odisha Train Accident: मुआवजा राशि

ओडिशा ट्रेन हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को कितना मुआवजा:  बालासोर रेल हादसे में मृतकों मिलेगा को 12 लाख रुपए तक का मुआवजा |

ओडिशा सरकार ने अपने राज्य से मरने वालों के लिए 5-5 लाख रुपए देने का ऐलान और गंभीर रूप से घायल लोगों के लिए 1-1 लाख रुपए के मुआवजा देने का ऐलान किया है. इसके अलावा उन मृतक यात्रियों को अलग से 10 लाख रुपए का बीमा मिलेगा, जिन्होंने रेल टिकट बुक करते समय ट्रैवल इंश्योरेंस का चयन किया होगा |

रेल दुर्घटना होने पर दी जाने वाली मुआवजा राशि को संशोधन कर कई मामले में मुआवजे की शुरुआती राशि 4 लाख रुपए बढ़ाकर 8 लाख रुपए कर दी गई है. रेल दुर्घटना के अलग-अलग मामलों में रेलवे की ओर से अलग-अलग मुआवजा दिया जाता है |

रेल मंत्रालय ने इस हादसे के बाद जानकारी दी कि वह मृतकों के परिजनों को 10 लाख का मुआवजा देगी और पीएमएनआरएफ की तरफ से भी मृतकों को 2 लाख का मुआवजा दिया जाएगा |

Odisha Train Accident

ओडिशा के बालासोर में हुए रेल हादसे को लेकर देश के क़रीब 270 रिटायर्ड Bureaucrats ने पीएम नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र, रेलवे ट्रैक्स की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की। चिट्ठी लिखने वालों में यूपी और जम्मू और कश्मीर के पूर्व DGP सहित कई रिटायर्ड IAS और IPS अधिकारी शामिल हैं।

इन लोगों ने पीएम के नाम पत्र में कहा है कि भारतीय रेल देश की लाइफलाइन है। देश विरोधी ताकतें रेल नेटवर्क को बाधित करना चाहते हैं। चिट्ठी में आगे कहा गया है कि ट्रैक्स की सेफ्टी के लिए ये ज़रूरी है कि पटरियों के इर्द-गिर्द से अवैध अतिक्रमण, Illegal Immigrants को हटाया जाए।

रेलवे इन स्थितियों को मानता है दुर्घटना 

रेलवे अधिनियम, 1989 का अध्याय 13 में कहा गया है कि दुर्घटना के कारण किसी यात्री की मौत और गंभीर शारीरिक क्षति के मामले में रेलवे विभाग उत्तरदायी है. जब ट्रेन में काम करते समय कोई दुर्घटना होती है तो यात्रियों को ले जाने वाली ट्रेनों के बीच टक्कर होती है या यात्रियों को ले जाने वाली ट्रेन पटरी से उतरती है तो घायल को मुआवजा दिया जाएगा |

मुआवजा प्राप्त करने की प्रक्रिया

रेल अधिनियम, 1989 की धारा 125 के तहत पीड़ित या मृतक के आश्रित मुआवजे के लिए रेलवे दावा अधिकरण (आरसीटी) में आवेदन कर सकते हैं | भारतीय रेलवे की वेबसाइट www.indianrailways.gov.in में दुर्घटना के संबंध में मुआवजे के दावों के संबंध में नियमों और प्रक्रियाओं का उल्लेख किया गया है |

Odisha Train Accident Donation:

दुर्घटना पीड़ितों के लिए विराट कोहली ने दिए 30 करोड़ रुपये डोनेट किया | विराट कोहली के बाद खबरें आ रही हैं कि एमएस धोनी ने ओडिशा ट्रेन हादसे के पीड़ितों को 60 करोड़ रुपये दान करने का फैसला किया है।

रेलवे हेल्पलाइन नंबर

हेल्पलाइन नंबर 139

रेल हादसे में कितने लोगो की जान गयी ?

288

Also read this : Shehri Nikay Swamitva Yojana

Conclusion :

साथियों अगर आपको इस पोस्ट में हमारी तरफ से Odisha Train Accident के बारे में दी हुयी जानकारी आपको पसंद आयी हो या पहर इस योजना से सम्बंधित किसी भी तरह का सवाल आपके मन में हो तोह आप हमसे कमेंट बॉक्स के ज़रिये पूछ सकते है |

इस योजना से जुड़े सभी दस्तावेजों की जानकारी आपको पोस्ट में मिलेगी हमने अपने तरफ से आपको इस योजना स्कीम के फॉर्म की फोटो भी प्रोवाइड करवाई है आशा करता हु हमारा द्वारा दी हुयी जानकारी आपको पसंद आयी होगी ऐसे ही लेटेस्ट जानकारियों के के लिए हमारी वेबसाइट Govtscheme.net पर आते रहे |

Leave a Comment